नई दिल्ली. दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने रेयान इंटरनेशनल स्कूल में दिव्यांश की मौत को लेकर उसके अभिभावकों की मांग और मजिस्ट्रेट जांच के तथ्यों के बाद सोमवार को इस मामले की सीबीआई जांच की सिफारिश की है.

मजिस्ट्रेट जांच में स्कूल प्रशासन के ‘संदिग्ध आचरण’ का जिक्र किया गया है. दिव्यांश के अभिभावकों ने केंद्रीय एजेंसी से जांच कराने की मांग करते हुए आरोप लगाया कि दिल्ली पुलिस मामले में विभिन्न महत्वपूर्ण पहलुओं को छोड़ रही है.

दिल्ली सरकार ने एक बयान में कहा कि  दिल्ली सरकार ने 30 जनवरी को वसंत कुंज के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में दिव्यांश की संदिग्ध मौत के मामले को सीबीआई को भेज दिया है. इसमें कहा गया है कि मजिस्ट्रेट जांच के तथ्यों के आधार पर और छात्र के अभिभावकों की मांग पर सीबीआई जांच कराने का फैसला किया गया.

बयान में कहा गया है कि  मजिस्ट्रेट जांच में स्कूली प्रशासन के संदिग्ध रवैये का जिक्र किया गया है और कुछ सवाल उठे हैं इसलिए सरकार ने न्याय के हित में फैसला किया है कि मामला सीबीआई को भेजना उपयुक्त होगा.

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने रिट्वीट किया कि रेयान स्कूल मौत मामले में सीबीआई जांच का आदेश दिया गया है. उम्मीद है कि दिव्यांश को निष्पक्ष और जल्द इंसाफ मिलेगा. मजिस्ट्रेट जांच में स्कूली प्रशासन द्वारा ‘जानबूझकर’ निष्क्रियता का जिक्र किया गया है जो कि आपराधिक लापरवाही है जिससे कि बच्चे की मौत हुई.

बयान में कहा गया है कि स्कूलों में इस तरह की घटनाएं दोबारा नहीं हो इसके लिए दिल्ली सरकार ने सभी निजी और सरकारी स्कूलों की सुरक्षा ऑडिट कराने का आदेश दिया है, जो अगले एक महीने में पूरी होगी.