नई दिल्ली. दिल्ली के रेयान इंटरनेशनल स्कूल के छात्र दिव्यांश की मौत के मामले में केजरीवाल सरकार ने सीबीआई जांच का फैसला लिया है. दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि वे दिव्यांश की मौत की गुत्थी को सीबीआई से सुलझाने की सिफारिश करेंगे. 
 
दिव्यांश की मौत के पीछे साजिश की आशंका जताते हुए सिसोदिया ने कहा है कि परिवार के आरोप गंभीर हैं. स्कूल ने मामले पर लापरवाही बरती है. 
 
सिसोदिया ने कहा है कि बच्चे के पिता की बात पर गौर ही नहीं किया जा रहा है. अभिभावकों की बात को नजर अंदाज किया जा रहा है कि बच्चे के ऐनल पॉइंट्स पे कॉटन लगी हुई थी. एक होनहार बच्चे को किसी मेडिकल टेस्ट के बिना ही स्कूल प्रशासन का हाइपर एक्टिव और दिमागी रूप से ठीक न बताना भी शक का एक कारण है.
 
क्या है मामला?
 
बता दे कि दिव्यांश की उम्र 6 साल थी और वह स्कूल में 30 जनवरी को कविता प्रतियोगिता के लिए आया था लेकिन सातवें पीरियड के बाद से वह स्कूल में गायब था. दिव्यांश के वापस न लौटने पर उसकी तलाश की जाने लगी जिसके बाद वह स्कूल के वाटर टैंक में बेहोश मिला. उसे हॉस्पिटल ले जाया गया जहां उसे मृत घोषित किया गया.
 
परिजनों ने लगाए ये आरोप
 
दिव्यांश के परिजनों का आरोप है कि दिव्यांश की मौत महज एक हादसा नहीं है यह एक साजिश है. जिसमें परिजनों ने कैंडल मार्च करके भी विरोध जाहिर किया है.