मुंबई. दिग्गज अभिनेता अनुपम खेर ने बुधवार को कहा कि उन्हें पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान ने वीजा की पेशकश की है. उन्होंने हालांकि यह भी कहा कि अब उनके पास डेट्स नहीं हैं. अनुपम ने मंगलवार को कराची साहित्य उत्सव में शामिल होने के लिए पाकिस्तान की ओर से वीजा न दिए जाने दावा किया था. इसके एक दिन बाद यानी बुधवार को उन्हें पाकिस्तान ने वीजा की पेशकश की.
 
अनुपम ने नई दिल्ली में पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित का वीजा की पेशकश के लिए ट्विटर पर शुक्रिया अदा किया. उन्होंने लिखा, “कराची के लिए वीजा की पेशकश करने के लिए आपका शुक्रिया माननीय अब्दुल बासित. मैं इसकी सराहना करता हूं. दुर्भाग्य से अब मेरे पास इसके लिए डेट्स नहीं हैं.”

 
अभिनेता को शुक्रवार से शुरू होने जा रहे तीन दिवसीय कराची साहित्योत्सव में शामिल होना था. इस साहित्योत्सव में जाने वाले 18 में से 17 भारतीयों को वीजा मिल चुके हैं, केवल अनुपम को ही वीजा नहीं मिला. 
 
पाकिस्तान उच्चायोग के एक राजनयिक ने बताया कि अभिनेता ने कराची की यात्रा के लिए वीजा संबंधी कोई आवेदन नहीं किया था.
 
अनुपम ने इस स्पष्टीकरण को हास्यप्रद करार दिया और कहा कि हो सकता है कि उन्हें कई सामाजिक और राजनीतिक मुद्दों पर खुलकर अपने विचार रखने की वजह से वीजा न दिया गया हो.
 
अब्दुल बासित ने क्या कहा?
इससे पहले पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित ने ट्वीट के जरिए कहा कि माफ कीजिएगा अनुपम खेर जी, मुझे नहीं पता कि आपको इस कथित एनओसी के बारे में किसने कहा, हमें अब भी आपके वीज़ा दस्तावेज़ और पासपोर्ट का इंतज़ार है.

 
बासित ने कहा, वो बहुत अच्छे कलाकार हैं, और मैं उनकी इज्जत भी करता हूं. उन्होंने जो भी अपनी प्रेस कॉन्फ़्रेंस में कहा उसे मैं चुनौती नहीं देना चाहता, लेकिन एक बात बहुत साफ कहना चाहता हूं कि वीजा अप्रूवल की दुनियाभर में जो प्रक्रिया है, वो तभी होती है, जब वीजा का एप्लीकेशन मिलता है. उस देश के निमंत्रण पत्र के आधार पर वीजा नहीं मिलता, तो हम यही उम्मीद करते हैं कि उनके ऑफिस ने वीजा के लिए कागजात जमा किए होंगे, जैसे दूसरे लोगों ने किया और वक्त पर उन्हें वीजा मिल गया. इस वक्त मैं सिर्फ इतना ही कह सकता हूं.