नई दिल्ली. मुंबई के गिरगांव चौपाटी पर 14 फरवरी को मेक इन इंडिया प्रोग्राम का आयोजन होगा. सुमद्री बीच पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्टेज बन पाएगा जहां मोदी के अलावा पांच देशों के प्रधानमंत्री आएंगे. बुधवार से ही आयोजन की तैयारी शुरु होगी.  सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार को समारोह की इजाजत दे दी है.
 
राज्य सरकार की ओर से मामले में पेश हुए अटार्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने कहा कि ये समारोह देश के लिए सम्मान की बात है.  हम बीच पर कुछ स्थायी निर्माण नहीं कर रहे हैं और  इससे पर्यावरण को कोई नुकसान नहीं होगा.
 
दरअसल बॉम्बे हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ महाराष्ट्र सरकार सुप्रीम कोर्ट पहुंची है और दलील दी है कि सरकार 13 से 18 फरवरी को मेक इन इंडिया सप्ताह मना रही है.  14 फरवरी को गिरगांव चौपाटी बीच पर महाराष्ट्र नाइ इवेंट मनाना चाहता है. बॉम्बे हाईकोर्ट ने शुक्रवार को सरकार को इजाजत देने से इंकार कर दिया था. राज्य सरकार की ओर से SG ने कोर्ट में कहा कि इस समारोह में  मोदी और 5 देशों के प्रधानमंत्री आएंगे. 56 देशों का प्रतिनिधिमंडल भी आमंत्रित किया गया है. 
 
सरकार ने कहा है कि पहले भी दूसरे मौको पर यहां समारोह की इजाजत दी है गणेश विसर्जन भी होता रहा है. हाईकोर्ट की  हाइपावर कमेटी ने इस बीच पर किसी आयोजन के लिए इंकार किया था लेकिन साथ ही रामलीला, क्रष्ण लीला, क्रिसमस, गणेश विसर्जन आयोजन की इजाजत दी इसलिए  इस आयोजन को भी इजाजत दी जाए.