नई दिल्ली. दिल्ली नगर निगम के एक लाख से ज्यादा कर्मचारियों की हड़ताल का आज चौथा दिन है. कई इलाकों में कूड़े के ढेर लग गए हैं. एमसीडी को सरकार में तकरार को लेकर डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने आरोप लगाया है कि एमसीडी में सैलरी के नाम पर बड़ा घोटाला हो रहा है.

वेतन के नाम पर घोटाला

सिसोदिया ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर एमसीडी और बीजेपी पर कई आरोप लगाए है. सिसोदिया ने कहा कि एमसीडी में जितना पैसा दिल्ली सरकार को देना था, उतना वह दे चुके हैं. उन्होंने कहा कि एमसीडी में वेतन के नाम पर घोटाला चल रहा है. इस बारे में कोई जांच नहीं कराई जा रही है.

जानबूझकर कूड़ा फेंकवाया जा रहा है

सिसोदिया ने एमसीडी को निशाने पर लेते हुए कहा कि हम सवाल उठा रहे हैं कि दिल्ली सरकार सारा पैसा फिर चाहे वह नॉन प्लान हो या प्लान रिलीज कर चुकी है. बीजेपी के वक्त लोन और इंट्रेस्ट काटा जाता था. दिसंबर महीने की सैलरी नॉर्थ और नवंबर में ईस्ट की सैलरी मिल चुकी है. लेकिन जानबूझकर कूड़ा फेंकवाया जा रहा है.

‘PWD की टीमें उठा रही हैं कूड़ा

सिसोदिया ने आगे कहा कि दिल्ली में लोगों की परेशानी बढ़ रही है. दिल्ली की साफ-सफाई जरूरी है, PWD के सभी अधिकारी लगे हुए हैं. PWD की 91 गाड़ियां लगाई गयी हैं, सुरक्षा के लिहाज से पुलिस को भी इसकी जानाकरी दी गयी है. सिसोदिया ने कहा कि रविवार तक स्थिति ठीक हो जाएगी.

वेंकैया नायडू से बात करें  मेयर

सिसोदिया ने आगे कहा, ‘तीनों मेयर को चुनौती है कि पूरा अकाउंट डिटेल सामने रखे. आखिर 12 महीने की सैलरी का पैसा कहां डाइवर्ट हुआ. जो इनका पैसा बकाया है डीडीए से वो नहीं मांग रहे हैं. मेरे घर के आगे कूड़ा फेंकने से पैसा मिल जाए तो रोज कूड़ा फेंको. जिन एजेंसी से पैसा लेना हो वो लें. मेयर चाहें तो केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू से बात करें.