नई दिल्ली. दिल्ली नगर निगम के एक लाख से ज्यादा कर्मचारियों की हड़ताल का आज चौथा दिन है. निगम कर्मचारियों की हड़ताल का असर अब दिखने लगा है कई इलाकों में कूड़े ढेर लग गए हैं. जिसके बाद PWD की टीमों ने कूड़ा हटाने का जिम्मा उठा लिया है.

PWD ने संभाला मोर्चा

दिल्ली सरकार ने अपने PWD विभाग को आदेश दिया है कि दिल्ली में जहां भी कूड़ा दिखे उसको तुरंत उठवाओ, ज़रूरत पड़े तो पुलिस की मदद लो. पीडब्ल्यूडी मिनिस्टर सत्येंद्र जैन ने कूड़ा साफ करने के लिए पीडब्ल्यू टास्क फोर्स का गठन किया है. करीब 100 ट्रकों को इस काम के लिए लगा दिया गया है जिसमें हर एक ट्रक पर 10 वर्कर होंगे.

बीजेपी ने किया प्रदर्शन

हड़ताली एमसीडी कर्मचारियों ने आज आम आदमी पार्टी और बीजेपी नेताओं के घर के बाहर प्रदर्शन किया है. निगम कर्मचारियों ने आज दिल्ली विधानसभा के स्पीकर रामनिवास गोयल के घर के बाहर और दिल्ली सचिवालय के बाहर भी विरोध प्रदर्शन किया. दिल्ली के तीनों एमसीडी पर बीजेपी का कब्जा है.

दिल्ली के परिवहन मंत्री कपिल मिश्रा ने ट्वीट किया है  ‘PWD team निकल रही है सड़को पर सफाई के लिए आज से, कल सुबह से सभी विधायक और मंत्री आम नागरिको से साथ मिलकर सफाई करेंगे.’

क्या है पूरा मामला

सेलरी न मिलने और अपनी मांगें न माने जाने से नाराज निगम के करीब 1 लाख से ज्यादा इम्प्लॉई बुधवार से तीन दिन की हड़ताल पर चले गए हैं. सफाई कर्मचारियों के साथ-साथ दूसरे विभागों के कर्मचारी भी शामिल हैं.

दिल्ली में जारी एमसीडी कर्मियों की हड़ताल में शनिवार से एमसीडी के तहत आने वाले डॉक्टर, नर्स और पैरामेडिकल स्टाफ के लोग भी जुड़ रहे हैं. इसके अलावा कई निजी हॉस्पिटलों से जुड़े वर्करों ने भी हड़ताल को अपना समर्थन देने की बात कही है.

क्या हैं मांगें

सेलरी पेमेंट महीने की पहली तारीख को रेग्युलर किया जाए. बकाया एरियर का भुगतान भी इमिडिएट किया जाए और तीनों नगर निगमों को एक किया जाए.