लखनऊ. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट में शामिल देश की हाईटेक ट्रेन महामना एक्सप्रेस में से चोरी का मामला सामने आया है. महामना एक्सप्रेस को देश की सबसे हाईटेक ट्रेन होने का खिताब मिला था. इस ट्रेन को मोदी ने 22 जनवरी को हरी झंडी दिखाई थी.
 
आधा दर्जन टोटियां और सामान गायब
रेलवे अधिकारियों को बताया कि स्लीपर क्लास और सेकंड एसी से आधा दर्जन टोटियां और सामान गायब हैं. जिसके बाद पूरी ट्रेन की जांच का आदेश दिया गया. सूत्रों के मुताबिक, यात्री शौच के बाद टोटीयां खोल कर चल दिए. वहीं जीआरपी पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और मामले की जांच शुरु कर दी है.
 
जो सामान नहीं निकला वो टूटा मिला
28 जनवरी  को जब यह ट्रेन दूसरी बार दिल्ली से वाराणसी आई तो साफ-सफाई के दौरान ट्रेन यार्ड को कई टोटियां गायब मिलीं. इसके बाद जब पूरी ट्रेन की तलाशी ली गई तो काफी सारा सामान गायब मिला. इतना ही नहीं जिस सामान को निकाला नहीं जा सका, वह टूटी हालत में मिला.
 
फिर से लगाए जाएंगे गायब सामान
रेलवे अधिकारियों का कहना है कि गायब समानों को फिर से लगाया जायेगा और अब उनकी सुरक्षा पर विशेष ध्यान देना होगा. ट्रेनों को समय से संचालन भी हम लोगों की प्राथमिकता में है.
 
रेलवे बोर्ड महामना को लेकर गंभीर 
रेलवे बोर्ड महामना एक्सप्रेस को लेकर कोई लापरवाही नहीं बरतना चाहता हैं, क्योंकि यह प्रधानमंत्री मोदी की प्राथमिकताओं की ट्रेन है बावजूद इसके ट्रेन में चोरी का मामला सामने आया है. इससे पहले दिल्ली से बनारस पहली बार 26 जनवरी को महामना एक्सप्रेस 25 मिनट देरी से पहुंची थी. इसकी सूचना पर बोर्ड ने संबंधित अफसरों से जवाब-तलब किया गया, जिसके बाद गुरुवार को दूसरे फेरे में यह ट्रेन समय से 35 मिनट पहले ही पहुंच गई.