नई दिल्ली. बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने उपराज्यपाल नजीब जंग से दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक कानून के तहत मुकदमा चलाने की इजाजत मांगी. स्वामी का आरोप है कि केजरीवाल ने सीएम के तौर पर अपने पहले कार्यकाल के दौरान एक निजी कंपनी से चंदा हासिल करने में आप पार्टी की सहायता की और इसके बदले में उसे गैरकानूनी फायदे पहुंचाए.
 
जंग को लिखे पत्र में स्वामी ने उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया पर भी मुकदमा चलाने की इजाजत मांगी है. उन्होंने दावा किया है कि सिसोदिया ने पहली आप सरकार के वित्त मंत्री के तौर पर वैट की उल्लंघनकर्ता निजी फर्म को लाभ पहुंचाया. 
 
जंग को लिखे पत्र में स्वामी ने आरोप लगाया, ”मुख्यमंत्री के तौर पर अपने पहले कार्यकाल में केजरीवाल और सिसोदिया ने गैर कानूनी तौर पर मैसर्स एस के एन एसोसिएट्स लिमिटेड को फायदा पहुंचाया.” उन्होंने आरोप लगाया है कि कंपनी का नाम मूल्य वर्धित कर के उल्लंघनकर्ताओं की सूची में था, जो 28 दिसंबर 2013 को केजरीवाल के सत्ता संभालने से 10 दिन पहले जारी की गई थी. 
 
दोनों आप नेताओं पर मुकदमा चलाने की इजाजत मांगने संबंधी पत्र में स्वामी ने इसे पद और सार्वजनिक धन का दुरूपयोग बताया है, जो भ्रष्टाचार निरोधक कानून की धारा 13 (1) (डी) के तहत आता है. स्वामी के इन आरोपों के बारे में दिल्ली सरकार की तरफ से तत्काल कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है.