दुर्गापुर. केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने बुधवार को तृणमूल कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि हैदराबाद में दलित छात्र की आत्महत्या के मुद्दे पर वोट बैंक की राजनीति कर रही है.
 
ईरानी ने कहा, “तृणमूल के नेता डेरेक ओब्रायन दलित छात्र के लिए न्याय की मांग करने हैदराबाद गए थे. मैं उनसे पूछना चाहती हूं कि मई 2015 में जब नादिया में एक तृणमूल नेता ने अपने घर में तीन दलितों की हत्या की थी, तो ओब्रायन उनके परिवारों से मिलने क्यों नहीं गए. क्योंकि उनके लिए नादिया में न्याय दिलाने से ज्यादा महत्वपूर्ण हैदराबाद में वोट बैंक तमाशा करना है.”
 
रोहित वेमुला की मौत के बाद देश भर में भारी आंदोलन चल रहा है. रोहित ने 17 जनवरी को हॉस्टल के एक कमरे में आत्महत्या कर ली थी, क्योंकि रोहित समेत चार अन्य दलित छात्रों पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के छात्र नेता से मारपीट के आरोप में हैदराबाद यूनिवर्सिटी ने निलंबन की कार्रवाई की थी.
 
बता दें कि राज्यसभा सांसद डेरेक ओब्रायन के नेतृत्व में तृणमूल कांग्रेस के दो सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने पिछले हफ्ते हैदराबाद विश्वविद्यालय परिसर का दौरा कर छात्रों के साथ मिलकर न्याय की मांग की थी.
 
ईरानी ने कहा कि मालदा में पुलिस थाने को जला दिया गया, लेकिन राज्य सरकार तमाशा देखती रही. इसके अलावा उन्होंने कोलकाता में वायुसेना अधिकारी की परेड रिहर्सल के दौरान गलत दिशा से आती कार की टक्कर से हुई मौत की घटना पर भी तृणमूल कांग्रेस की आलोचना की.