नई दिल्‍ली. दिल्ली के परिवहन मंत्री गोपाल राय ने कहा कि ऑड-ईवन फॉर्मूले को दिल्ली में मार्च के बाद फिर से लागू किया जा सकता है, क्योंकि इस योजना के लिए तैयारी की जरूरत है. राय ने कहा कि मार्च के बाद ऑड-ईवन फॉर्मूले का क्रियान्वयन हम दिल्ली में फिर से देख सकते हैं. हमें इसके लिए कुछ जरूरी तैयारी को अंजाम देना है.

गोपाल राय ने बताया कि साल के अंत तक 3,000 अतिरिक्त बसें सड़कों पर उतारी जाएंगी. इनमें से 1,000 बसों में वाई-फाई, बोतलबंद पानी, पत्रिकाएं और अधिक आरामदायक बैठने की व्यवस्था होगी. इन बसों की सभी सीटें भर जाने के बाद यात्रियों को इसमें बैठने की अनुमति नहीं होगी. इन बसों में टिकट की पूर्व बुकिंग की भी व्यवस्था होगी. मंत्री ने कहा कि इन बसों में टिकट का किराया सामान्य डीटीसी और क्लस्टर बसों की तुलना में अधिक होगा.

राय ने कहा कि हम अगले महीने कैबिनेट की बैठक में आदेश पारित करेंगे. वैश्विक विनिर्माताओं को बोली लगाने के लिए आमंत्रित किया जाएगा.  उन्होंने कहा कि हमें उम्मीद है कि ये बसें अक्टूबर से चालू हो जाएंगी.  दिल्ली में डीटीसी की 4700 बसें और सार्वजनिक-निजी भागीदारी के आधार पर 1300 ‘क्लस्टर बसें’ सड़कों पर दौड़ रही हैं.

दिल्ली सरकार ने योजना का ट्रायल 1-15 जनवरी के बीच किया था. ऑड संख्या वाले वाहनों का परिचालन ऑड तारीख के दिन और ईवन संख्या वाले वाहनों का परिचालन ईवन तारीख के दिन तय किया गया था.