लखनऊ. पहली बार उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक कार्यक्रम के दौरान भावुक हो गए. हैदराबाद यूनिवर्सिटी के छात्र रोहित वेमूला की आत्महत्या के मामले का जिक्र करते पीएम मोदी ने भारी मन से कहा कि इस मुद्दे पर राजनीति नहीं होनी चाहिए, एक मां ने अपना बेटा खोया है.

इस बात को कहते हुए पीएम मोदी भावुक हो गए और इस दौरान वे थोड़ी देर तक चुप रहे. उन्होंने कहा कि मां भारती ने अपना एक लाल खोया है. अंबडेकर यूनिवर्सिटी के कार्यक्रम में बोलते हुए उन्होंने कहा कि डॉ अंबेडकर देश के लिए जिए और मरे.

हम पर समाज का कर्ज

उन्होंने कहा कि तकनीक के दौर में जानकारी ही ताकत है. पीएम मोदी ने कहा कि अगर  शिक्षा व्यवस्था में यह समझना पड़े के छात्रों को क्या करना है तो समझिए शिक्षा अधूरी है. उन्होंने कहा कि हम पर समाज का बहुत कर्ज है.

मुश्किलों के आगे ही मंजिलें मिलती हैं

उन्होंने कहा कि व्यक्ति में कुछ करने का इरादा होना चाहिए। व्यक्ति को जिंदगी से जूझना सीखना चाहिए. देश के भविष्य पर बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा, 21वीं सदी हिन्दुस्तान की सदी है. दुनिया का यह सबसे जवान देश और सपने भी जवान हैं. उन्होंने युवाओं से मुश्किलों का सामना करने का आह्वान करते हुए कहा कि मुश्किलों के आगे ही मंजिलें मिलती हैं.

भाषण के दौरान लगे मोदी गो बैक के नारे

लखनऊ में डॉ. भीमराव अंबेडकर यूनिवर्सिटी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण के दौरान कुछ युवाओं ने ‘मोदी गो बैक’ के नारे भी लगाए. जिसके बाद सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें बाहर निकाल दिया और कुछ को हिरासत में ले लिया गया है.