बेंगलुरू. गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि के रूप में आने वाले फ्रांस के राष्ट्रपति ओलांद के लिए भारत न आने की धमकी भरा खत मिला है. ये खत बेंगलुरु में फ्रेंच कॉन्सूलेट को मिला है. 26 जनवरी के कार्यक्रम के लिए फ्रांस के राष्ट्रपति को भारत आना है. लेटर कथित तौर पर चेन्नई से पोस्ट किया गया है.

गणतंत्र दिवस पर चीफ गेस्ट हैं ओलांद

प्रेजिडेंट ओलांद भारत में 24 जनवरी को अपनी 3 दिवसीय यात्रा पर आ रहे हैं. वह चंडीगढ़ में उतरेंगे जहां उन्हें पीएम मोदी रिसीव करेंगे. यहां बता दें कि ओलांद दिल्ली में 26 जनवरी परेड समारोह के चीफ गेस्ट होंगे.

सुरक्षा के पुख्ते इंतजाम

गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में सर्वाधिक संभावित सुरक्षा कवर होगा जहां फ्रांस के राष्ट्रपति मुख्य अतिथि होंगे.  सन 2014 में गणतंत्र दिवस पर सुरक्षा में 50 कंपनी अर्धसैनिक बल तैनात किए गए थे.

2015 में यह संख्या बढ़ाकर 95 कंपनी कर दी गई जब अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा मुख्य अतिथि बनकर आए थे. अधिकारी ने कहा कि इस वर्ष सौ कंपनियों को तैनात करने का निर्णय किया गया है. गणतंत्र दिवस समारोहों से पहले दिल्ली में व्यापक सुरक्षा के लिए अर्धसैनिक बल के दस हजार जवानों को तैनात किया गया है.