नई दिल्ली. दलित छात्र रोहित वेमुला के आत्महत्या किए जाने की घटना पर कांग्रेस ने मानव संसाधन एवं विकास मंत्री स्मृति ईरानी पर हमला बोलते हुए कहा है कि ईरानी ने इस घटना में गलत बयान देकर देश को गुमराह किया है.

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने पीएम नरेंद्र मोदी से मांग की कि वह ईरानी को गलत बयान देने के लिए बर्खास्त करें. उन्होंने सवाल किया कि क्या ईरानी और उनके मंत्रालय से जुडे़ सहयोगी इस बात के लिए तैयार हैं कि इस मामले की जांच कराई जानी चाहिए.

कांग्रेस ने सरकार को दलित विरोधी बताते हुए विश्वविद्यालय के वीसी को तत्काल हटाने और उनके खिलाफ जांच कराने की मांग की है. कांग्रेस ने कहा कि बीजेपी की नीति ही रही है कि वे एक झूठ को छिपाने के लिए 100 छूठ बोलते हैं.

बता दें कि इस मामले में मानव संसाधन मंत्री स्मृति ईरानी ने दलित छात्रों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए विश्वविद्यालय प्रशासन पर दबाव डालने के आरोपों को खारिज किया था. उन्होंने कहा कि यह कोई दलित बनाम गैर दलित मुद्दा नहीं है, जैसा कि कुछ लोग पेश कर रहे हैं. इस विषय को जाति संघर्ष बनाकर पेश करने का दुर्भावनापूर्ण प्रयास किया जा रहा है, जो है ही नहीं.