पठानकोट. पठानकोट के एयरबेस पर हुए आतंकी हमले के बाद जांच के घेरे में आए गुरदासपुर के एसपी सलविंदर सिंह पूछताछ में घिरते जा रहे हैं. मंगलवार को लाई डिटेक्टर टेस्ट होने के बाद उनके करीबियों पर शिकंजा कसना शुरू हो गया है. इस बीच एनआईए ने आज सलविंदर सिंह के घर और उनके सहयोगियों के ठिकानों पर छापेमारी की है.
 
एनआईए ने गुरदासपुर में चार जगह और अमृतसर में दो जगहों पर छापा मारा गया है. कहा जा रहा है एजेंसी छापेमारी द्वारा सलविंदर की संपत्ति के बारे में जानकारी हासिल करना चाहती है. एनआईए ने उनके कुक मदनगोपाल के साथ-साथ सलविंदर के दोस्त राजेश वर्मा के घर पर भी छापा मारा है. फिलहाल सलविंदर एनआईए के दफ्तर में हैं.
 
सलविंदर के साथ क्या हुआ था?
सलविंदर को आतंकियों ने एयरबेस अटैक से पहले किडनैप किया था. उन्होंने एनआईए को दिए अपने बयान में दावा किया था कि देर रात एक दरगाह से दर्शन के बाद लौटते समय आतंकियों ने बंदूक के जोर पर उनका किडनैप किया. सलविंदर ने बातया उनके साथ एक दोस्त और कुक भी था. उसने जो बयान दिया उसके बाद कुछ सवाल उठे और इसके बाद उस पर शक गहरा गया. इसके बाद से एनआईए उनसे पूछताछ कर रही है.
 
संपत्ति से जांच की दिशा तय करेगी NIA
सूत्रों का कहना है कि एनआईए सलविंदर के सीमा पार से ड्रग तस्करी कराने के कारोबार में शामिल होने की संभावनाओं को भी पूरी तरह नहीं नकार रही है. पाक सीमा से भारत में ड्रग्स सप्लाई का कारोबार पंजाब में बहुत मजबूत है. इसलिए एनआईए संपत्ति के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करना चाहती है. अगर उनके पास आय से अधिक संपत्ति पाई जाती है तो एजेंसी आगे की जांच की दिशा तय करेगी.