नई दिल्ली. जाने-माने साहित्यकार अशोक वाजपेयी ने हैदराबाद यूनिवर्सिटी के एक दलित छात्र की आत्महत्या के बाद संस्थान के प्रशासन के रवैये के प्रति विरोध दर्ज कराते हुए यूनिवर्सिटी की ओर से प्रदान की गई डी. लिट की उपाधि को वापस करने का फैसला किया है.

वाजपेयी ने कहा है कि दलित छात्र रोहित वेमुला दलित-विरोध और मतभेदों के प्रति दिखाई गई असहिष्णुता के चलते आत्महत्या करने को मजबूर हुआ, जो एक लेखक बनना चाहता था. मैंने यूनिवर्सिटी के अधिकारियों के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए सम्मान वापस करने का फैसला किया है, जो संभवत: राजनीतिक दबाव में काम कर रहे थे.

ललित कला अकादमी के पूर्व अध्यक्ष वाजपेयी को कुछ साल पहले हैदराबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय ने डी.लिट की मानद उपाधि प्रदान की थी. उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय ने मानवीय गरिमा और ज्ञान के खिलाफ कार्रवाई की है.

बता दें कि रोहित ने रविवार की रात को आत्महत्या कर ली थी। वह उन पांच शोध छात्रों में शामिल था, जिन्हें पिछले साल अगस्त में यूनिवर्सिटी ने निलंबित कर दिया था.