नई दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को हैदराबाद विश्वविद्यालय के दलित छात्र की आत्महत्या के मामले को ‘लोकतंत्र, सामाजिक न्याय और समानता की हत्या’ करार दिया. केजरीवाल ने अपने एक ट्वीट में कहा, “यह आत्महत्या नहीं है. यह हत्या है. यह लोकतंत्र, सामाजिक न्याय और समानता की हत्या है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी को मंत्रियों को निलंबित करना चाहिए और देश से माफी मांगनी चाहिए.”
 
मुख्यमंत्री ने अन्य ट्वीट में कहा, “दलितों का उत्थान मोदी सरकार का संवैधानिक कर्तव्य है. इसके बावजूद मोदीजी के मंत्रियों ने पांच दलित छात्रों को बहिष्कृत व निष्कासित किया.”
 
बता दें कि हैदराबाद विश्वविद्यालय के विज्ञान, प्रौद्योगिकी और समाज अध्ययन विभाग के सेकेंड ईयर के छात्र रोहित वेमुला (28) ने रविवार रात विवि छात्रावास के एक कमरे में खुदकुशी कर ली थी. पिछले साल अगस्त में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद(एबीवीपी)के कार्यकर्ताओं से हुई झड़प के कारण रोहित सहित अंबेडकर स्टूडेंट्स एसोसिएशन (एएसए) से संबद्ध पांच दलित छात्रों को निलंबित कर छात्रावास से निकाल दिया गया था.