नई दिल्ली. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और केंद्र सरकार के बीच फिर से तनातनी बढ़ती दिखाई दे रही है. केजरीवाल ने प्रधानमंत्री पर आरोप लगाते हुए ट्वीट किया है कि रोज सुबह उठकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिल्ली सरकार के काम में कोई न कोई अड़ंगा लगा देते हैं.
 
इस ट्वीट पर बीजेपी ने कहा कि यह केजरीवाल का खबरों में बने रहने का स्टंट है.
 
इस बार क्या है मामला? 
 
केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने अपने काम में अड़ंगा लगाने का आरोप लगाते हुए कहा है कि केंद्र ने 44 साल पुराना नियम बदल डाला है जिसके तहत दिल्ली सरकार के मंत्री ज्वाइंट कैडर अथॉरिटी (जेसीए) की बैठक में हिस्सा नहीं ले पाएंगे.
 
दिल्ली में अफसरों की पोस्टिंग को लेकर पहले ही विवाद चल रहा था. ऐसे में यह नया बदलाव विवाद बढ़ा सकता है. दरअसल, जेसीए ही अधिकारियों की पोस्टिंग तय करती है. 1972 के ऑल इंडिया सर्विसेज नियमों में बदलाव करते हुए डिपार्टमेंट ऑफ पर्सनल एंड ट्रेनिंग ने कहा है कि जेसीए मीटिंग में अब सिर्फ अधिकारी ही बैठक में हिस्सा ले पाएंगे.