जम्मू. नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूख अब्दुल्ला ने कहा है कि अगर बीजेपी जम्मू-कश्मीर में सरकार बनाने के लिए उनकी पार्टी से हाथ मिलाना चाहती है तो वो विचार कर सकते हैं.
 
जम्मू में पत्रकारों के एक सवाल के जवाब में फारूख ने कहा, “अगर ऐसा कोई प्रस्ताव आता है तो नेशनल कॉन्फ्रेंस की वर्किंग कमिटी की बैठक बुलाई जाएगी और उसमें विचार किया जाएगा. अगर ऐसी स्थिति आती है तो हम विचार कर सकते हैं. हमने दरवाजे बंद नहीं किए हैं. हमारे दरवाजे खुले हैं.”
 
87 सदस्यों वाली जम्मू-कश्मीर विधानसभा में बीजेपी के 25, पीडीपी के 27 और नेशनल कॉन्फ्रेंस के 14 विधायक हैं. पिछले 10 महीने से राज्य में पीडीपी-बीजेपी की सरकार चल रही थी जिसके मुखिया मुफ्ती मोहम्मद सईद का 7 जनवरी को निधन हो गया.
 
उसके बाद से पीडीपी और बीजेपी के बीच सरकार बनाने की बातचीत तो लगातार चल रही है लेकिन नतीजा कुछ निकला नहीं है.
 
अब्दुल्ला ने इस राजनीतिक अनिश्चितता के लिए पीडीपी को जिम्मेवार ठहराते हुए कहा, “पीजेपी सरकार बनाने के लिए तैयार है लेकिन पीडीपी ने अनिश्चितता पैदा कर रखी है. ऊपर वाला ही जाने कि पीडीपी क्या सोच रही है. उम्मीद करता हूं कि वो इसे जल्दी खत्म करें और सरकार बनाएं.”