नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट ने केद्र सरकार से पूछा है कि 1971 के युद्ध में लापता एक जवान कहीं ओमान जेल में तो नहीं है. कोर्ट में एक याचिका दायर करके 1971 के युद्धबंदी जसपाल सिंह की रिहाई की मांग की गई है. याचिका में मीडिया रिपोर्ट्स का हवाला देते हुए कहा गया है कि जसपाल सिंह ओमान की जेल में बंद है.

केंद्र को मामले की जानकारी नहीं

केंद्र का कहना है कि उसे इस बारे में जानकारी नहीं है. वो जानकारी इकट्ठी करके कोर्ट को बताएगा. केंद्र ने कोर्ट में सौऱभ कालिया सहित 5 लोगों का मुद्दा उठाते हुए कहा कि वो इस मुद्दे को अंतर्राष्टीय अदालत में नहीं ले जा सकता.

इस पर कालिया के वकील का कहना है कि पिछले साल सरकार ने कहा था कि अगर सुप्रीम कोर्ट आदेश दे तो वो मामले को अंतर्राष्टीय अदालत ले जाएंगे.

क्या है मामला

करगिल युद्ध के दौरान पाकिस्तान की कस्टडी में बेरहमी से मारे गए कैप्टन सौरभ कालिया की मौत के मामले को अंतर्राष्ट्रीय अदालत में ले जाने की मांग वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट सुनवाई कर रहा है.

पाक ने दी थी सफाई

कैप्टन सौरभ कालिया को करगिल युद्ध के दौरान 1999 में पाकिस्तान सेना ने बंधक बना लिया था और यातनाएं देकर मार डाला था. पाकिस्तान ने दावा किया था कि सौरभ का शव एक गड्ढे में मिला था और उसकी मौत सख्त मौसम की वजह से हुई थी.