भोपाल. बीफ रखने की अफवाह के कारण दादरी में हुए बवाल के बाद अब मध्य प्रदेश में भी एक घटना सामने आई है. मध्यप्रदेश में हारदा जिले के खिरकिया रेलवे स्टेशन पर ट्रेन में सवार एक दंपति को बीफ रखने की आशंका के चलते मारपीट का मामला सामने आया है. गोरक्षा समिति के कार्यकर्ताओं ने मुस्लिम दंपती ने सामान की तलाशी लिए जाने का विरोध किया तो कार्यकर्ताओं ने उनके साथ बदसलूकी की. 
 
पुलिस ने कार्यकर्ताओं को किया गिरफ्तार
पुलिस ने गौरक्षा समिति के दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. उनमें से एक का नाम हेमंत राजपूत और दूसरे का संतोष है. उनका दावा है कि उन लोगों को सूचना मिली थी कि कुछ यात्री ट्रेन में बीफ ले जा रहे हैं. हालांकि जांच में पता चला है कि वह भैंस का मांस था.
 
दोनों पक्षों में जमकर हुई मारपीट 
कुछ ही देर में रेलवे स्टेशन पर भारी संख्या में दोनों समुदायों के लोग इकठ्ठे हो गए और मारपीट शुरू हो गई. जीआरपी ने दोनों पक्षों के लोगों के खिलाफ एक दूसरे की रिपोर्ट पर शिकायत दर्ज कर ली है. रेलवे पुलिस ने दोनों युवकों के खिलाफ रेलवे की धारा 153 के तहत मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया. दोनों को अभी जमानत नहीं मिली है.
 
मांस ले जा रहे लोग भाग निकले 
पुलिस के मुताबिक, कुशीनगर एक्सप्रेस ट्रेन में बुधवार को बीफ मिलने की खबर पर गोरक्षा समिति से जुड़े दो युवक स्टेशन पहुंचे थे. उनके आने की भनक लगते ही मांस लेकर जा रहे लोग भाग निकले, लेकिन मांस की पोटली के पास बैठे मुस्लिम दंपती से गोरक्षा समिति के युवकों ने पूछताछ की, जिससे दोनों पक्षों में विवाद हो गया.
 
आपको बता दें कि दादरी के बिसाड़ा गांव में गोमांस पकाने की अपवाह के आरोप में भीड़ ने मो. अखलाक की हत्या कर दी थी. इसके बाद कुछ लोग उसके घर में दरवाज़ा तोड़कर घुसे थे. इसके बाद उसको घर से बाहर खींचा और उसकी पीट-पीटकर हत्या कर दी.