तिरूवनंतपुरम. आरएसएस ने ईसाई समुदाय तक पहुंच बनाने के लिए कई ईसाई नेताओं से मुलाकात की. माना जा रहा है कि आरएसएस का यह कदम एक दशक पहले बनाए मुस्लिम राष्ट्रीय मंच की तर्ज पर ईसाई समुदाय का एक संगठन बनाने के लिए उठाया गया है.
 
आरएसएस द्वारा ईसाई शाखा की शुरुआत करने के फैसले पर सायरो मालंकारा कैथलिक चर्च के प्रमुख ने कहा कि हम इंतजार करेंगे और देखेंगे कि वे क्या पेश करते हैं. मोरन मार बेसेलियोस क्लीमिस कैथोलिकोस ने कहा, “इसकी स्वीकार्यता इस बात पर निर्भर करेगी कि उन्होंने क्या प्रस्ताव दिया है और उनके पास पेश करने के लिए क्या है?”
 
उन्होंने कहा, “मैं अभी तक इस मामले को लेकर साफ नहीं हूं. इसलिए बेहतर यही होगा कि वे क्या पेशकश करते हैं, इस बात का हम इंतजार करें.” 
 
दक्षिणपंथी हिंदू समूहों का साफ संदर्भ देते हुए कार्डिनल ने कहा कि अभी तक तो हमने यही देखा है कि बोला कुछ जाता है और होता कुछ और है. इसलिए उन्हें इस बात को साफ करने दीजिए कि उनके दिमाग में क्या है.