नई दिल्ली. नरेंद्र मोदी सरकार ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत मात्र 2 परसेंट प्रीमियम पर खेत, फसल और प्राकृतिक आपदा की हालत में किसानों के मकान तक को कवर करने का ऐलान कर दिया है. फरवरी में पेश होने वाले बजट में इस योजना के लिए फंड की घोषणा होगी और योजना 1 अप्रैल से लागू हो जाएगी.
 
सरकार के फैसले की जानकारी देने के लिए आज केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, वेंकैया नायडू और राधामोहन सिंह ने मीडिया को संबोधित किया. गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने बताया कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत अब आधा पैसा बीमा कंपनी और आधा पैसा सरकार देगी. 
 
केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने बताया कि बीमा योजना सिर्फ फसल तक सीमित नहीं होगी और फसल के कटने के बाद भी उस पर कवरेज मिलेगा. उन्होंने बताया कि हर सीजन में अलग-अलग प्रीमियम देना होगा. स्थानीय चीजों के मद्देनजर किसान को पहले ही बताना होगा कि वो किस-किस चीज का कवर चाहते हैं. नायडू ने कहा कि प्राकृतिक आपदा में खेत, फसल और घर सब बीमा के अंदर कवर होगा.
 
केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मकर संक्रांति, लोहड़ी और पोंगल के मौके पर देश के किसानों को फसल बीमा का ये जबर्दस्त तोहफा दिया है. उन्होंने कहा कि मात्र 2 प्रतिशत प्रीमियम पर किसानों को उनकी फसल का पूरा बीमा दिया जाएगा जिससे किसानों की एक बड़ी समस्या हमेशा के लिए खत्म हो जाएगी.
 
राधा मोहन सिंह ने कहा कि फसल बीमा योजना के लिए अगले बजट में फंड का प्रावधान हो जाएगा और नए वित्तीय वर्ष से योजना लागू हो जाएगी. उन्होंनें कहा कि किसान मात्र 2 परसेंट प्रीमियम देंगे और बाकी पैसा राज्य और केंद्र की सरकार देगी. कृषि मंत्री ने कहा कि इससे पहले की फसल बीमा योजनाएं किसानों को मदद पहुंचाने में इसलिए नाकाम रहीं क्योंकि प्रीमियम ज्यादा था और कवरेज सीमित था.