नई दिल्ली. एनआईए ने एसपी सलविंदर सिंह के कुक के बाद पंजपीर दरगाह के बाबा सोमराज को भी समन भेजा है. पठानकोट हमले से पहले एसपी सलविंदर और उनके दोस्त इसी दरगाह पर गए थे. इसके बाद से एसपी, उनके दोस्त, कुक और दरगाह के बाबा के बयानों में विरोधाभास सामने आया था. 
 
सिंह के बयानों में विरोधाभास
सलविंदर ने दावा किया था कि पंज पीर दरगाह से लौटते वक्त उन्हें आतंकियों ने अगवा कर लिया था और उनकी कार छीन ली थी. उनके मुताबिक वो हमेशा से दरगाह में जाते रहे हैं. उधर दरगाह के बाबा सोमराज का कहना था कि उसने ने 31 दिसंबर को पहली बार पंज पीर में सलविंदर को देखा था. इन्हीं विरोधाभासी बयानों के बाद एसपी सलविंदर से कई बार पूछताछ हो चुकी है और अब एनआईए ने दरगाह के बाबा को भी समन भेजा है. 
 
आज भी होगी पूछताछ
एसपी सलविंदर सिंह से आज भी पूछताछ होगी और बताया जा रहा है कि उनका लाई डिटेक्टर टेस्ट भी हो सकता है.
 
आखिर रात में पंज पीर क्यों गए थे SP?
एनआईए जानना चाहती है कि आखिर एसपी सलविंदर सिंह इतनी रात को पंज पीर क्यों गए थे. इसके अलावा सवाल ये भी उठ रहा है कि पहले एक ड्राइवर को मार चुके आतंकियों ने सलविंदर सिंह को क्यों छोड़ दिया.
 
क्या है मामला
बता दें कि सलविंदर सिंह को उनके मित्र राजेश वर्मा और रसोइये मदन गोपाल के साथ आतंकवादियों ने 31 दिसंबर की रात अगवा कर लिया था जिसके बाद आतंकी पठानकोट स्थित वायुसेना ठिकाने में घुसे थे और आतंकवादी हमले को अंजाम दिया था. इस हमले में एनएसजी के लेफ्टिनेंट कर्नल सहित सात सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए थे.