मुंबई. पठानकोट आतंकी हमले के बाद महाराष्ट्र में बीजेपी की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सलाह देते हुए कहा है कि केंद्र सरकार पाकिस्तान के पाले में गेंद डालना बंद कर दे.

शिवसेना के मुखपत्र सामना में लिखा है कि बताया जा रहा है गेंद अब पाकिस्तान के पाले में है. लेकिन 2000 के संसद हमले और 2008 के मुंबई हमले के लिए भी पाकिस्तान के पाले में ही गेंद थी. वह हमें निशाना बनाते हैं और हम अगले हमले के इंतज़ार में उनके पाले में गेंद डालते जाते हैं.

चाय के बदले जवानों की मौत

इससे पहले सामना में छपे एक संपादकीय में आपसी रिश्ते सुधारने की दिशा में पीएम मोदी की आचानक पाकिस्तान यात्रा की भी काफी आलोचना हुई थी. मुखपत्र में लिखा गया है कि नवाज़ शरीफ के साथ एक कप चाय के बदले हमारे सात जवानों को शहीद होना पड़ा.

पठानकोट आंतकी हमले के बाद पिछले हफ्ते विदेश मंत्रालय के प्रवक्त विकास स्वरूप ने कहा था कि अब गेंद पाकिस्तान के पाले में है और इस घटना को अंजाम देने वालों के खिलाफ पाकिस्तान को जल्द से जल्द कार्यवाई करनी होगी.