नई दिल्ली. कांग्रेस ने मनीष तिवारी के दिल्ली कूच बयान से पल्ला झाड़ लिया है. कांग्रेस नेता पीसी चाको ने पार्टी की तरफ से आधिकारिक बयान देते हुए कहा है कि 2012 में सेना ने सरकार की जानकारी के बगैर जानकारी दिल्ली कूच नहीं किया था.

पीसी चाको ने कहा कि मनीष तिवारी 2012 में सेना के बिना इजाजत दिल्ली कूच करने को लेकर खुद के लिए बोल रहे हैं. पार्टी उनके बयान से इत्तेफाक नहीं रखती. उन्होंने तिवारी के इस बयान को गलत बताया है.

आरोपों में कोई सच्चाई नहीं है-अभिषेक मनु सिंघवी

वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने भी तिवारी के बयान का खंडन किया है. उन्होंने कहा है कि मैं फिर से दोहराता हूं कि ऐसे आरोपों में कोई सच्चाई नहीं है. मेरे सहयोगी मनीष तिवारी न तो सुरक्षा पर कैबिनेट कमिटी के सदस्य थे और न ही इस संबंध में फैसला लेने वाली किसी संस्था के सदस्य थे.

कुछ तो हुआ था उस रात-मणि शंकर

कांग्रेस नेता मणि शंकर अय्यर का कहना है कि सरकार की वीके सिंह जैसे व्यक्ति को केंद्रीय मंत्री बनाना बहुत बड़ी गलती है. अच्छी बात है कि यह मामला फिर सामने आया है. उन्होंने कहा कि कुछ न कुछ तो हुआ था उस रात जो कि संविधान के खिलाफ था