नई दिल्ली. दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और बीजेपी सांसद कीर्ति आजाद की तरफ से डीडीसीए और वित्त मंत्री अरुण जेटली पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाने के बाद डीडीसीए ने दोनों नेताओं पर मानहानि का केस किया है.

डीडीसीए ने अपने दावे में केजरीवाल और आजाद से मानहानि क्षतिपूर्ति के रूप में ढाई करोड़ रुपये की मांग की है. दावे में आरोप लगाए गए हैं कि केजरीवाल और आजाद ने डीडीसीए की कार्यप्रणाली और आर्थिक लेनदेन पर आपत्तिजनक बयानबाजी की है. इससे डीडीसीए की छवि खराब हुई है.

डीडीसीए के कोषाध्यक्ष रविंद्र मनचंदा ने बताया कि केजरीवाल और आजाद के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट में दीवानी मानहानि की याचिका दायर की गई है. साथ ही अधिवक्ता संग्राम पटनायक ने भी याचिका दाखिल करने की पुष्टि की है.

जेटली ने भी किया केजरीवाल पर मानहानि का केस

इस मामले में वित्त मंत्री अरुण जेटली पहले ही दिल्ली हाईकोर्ट और पटियाला हाउस अदालत में दीवानी और आपराधिक मानहानि की याचिका दायर कर चुके हैं. उन्होंने अपनी याचिका में आरोप लगाया है कि केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के पांच अन्य नेताओं के झूठे बयानों से उनकी और उनके परिवार की छवि खराब हुई है.

इन नेताओं पर केस दर्ज कराने की मांग

पटियाला हाउस अदालत में दाखिल याचिका में केजरीवाल, आशुतोष, कुमार विश्वास, संजय सिंह, राघव चड्ढा और दीपक वाजपेयी के खिलाफ आपराधिक केस दर्ज करने की मांग की गई है. जबकि हाईकोर्ट में दीवानी दावे में क्षतिपूर्ति के रूप में दस करोड़ रुपये की मांग की गई है.