वाराणसी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 22 जनवरी को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी जाएंगे. यहां वह शारीरिक रूप से अक्षम (दिव्यांग) लोगों को मजबूत करने का विश्व रिकॉर्ड बनाएंगे और दिव्यांगों को कई तोहफे भी देंगे. मोदी करीब 7766 विकलांगों को ट्राई साइकिल, हियरिंग एड, लैपटॉप और स्मार्टफोन बांटे जाएंगे. विकलांगों को मोदी ने ‘दिव्यांग’ नाम दिया है.
 
प्रधानमंत्री के दौरे को लेकर केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय के संयुक्त सचिव अवनीश अवस्थी ने जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ राइफल क्लब में बैठक की.
 
अवनीश अवस्थी ने बताया कि डीएलडब्लू ग्राउंड में कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा. इस आयोजन को गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड में दर्ज कराने के लिए सभी कदम उठाए जा रहे हैं. इस पूरे आयोजन में करीब सात करोड़ के उपकरण विकलांगों को दिए जाएंगे.
 
कार्यक्रम की जिम्मेदारी शारीरिक तौर पर अक्षम लोगों के लिए काम करने वाली सरकारी संस्थाओं को दी गई हैं. यह अपनी तरह का देश का सबसे बड़ा आयोजन है. 
 
जिलाधिकारी राजमणि यादव के अनुसार, इस आयोजन के जरिए लाभ पाने वाले विकलांगों का चयन पहले ही कर लिया गया है. जो लोग छूटे हैं, उन्हें भी 18 जनवरी तक शामिल कर लिया जाएगा.