नई दिल्ली. हाईकोर्ट में सेंट्रल पोल्यूशन कंट्रोल बोर्ड और मिनिस्ट्री आफ अर्थ एंड साइंस ने प्रदूषण से संबधित रिपोर्ट दाखिल की है. रिपोर्ट में कहा गया है कि ऑड ईवन फार्मूले के लागू होने के बावजूद दिल्ली में प्रदूषण का स्तर या तो बराबर है या तो बढ़ा है.
 
सेंट्रल पोल्यूशन कंट्रोल बोर्ड की रिपोर्ट के मुताबिक  दिल्ली के पंजाबी बाग, आनंद विहार में पीएम 2.5 और पीएम 10 ज्यादा है.  वहीं दिसंबर के महीने में यह पीएम 2.5 स्तर पंजाबी बाग इलाके में 200 से 340 प्वाइंट तक था, साथ ही आनंद विहार इलाके में 260 से 560 प्वाइंट तक था. 
 
देखा जाए तो 31 दिसंबर से 7 जनवरी तक पंजाबी बाग में जब ऑड-ईवन लागू हुआ है तो पीएम 2.5 का ये स्तर 240 से 471 प्वाइंट तक पहुंच गया है जो कि दिसंबर के महीने से कही ज्यादा है.
 
वहीं मंदिर मार्ग इलाके के आकंड़ो को देखा जाए तो जहां दिसंबर के महीने में पीएम 2.5 लेवल 90 से 339 प्वाइंट है वही यह एक से सात जनवरी के बीच 150 से 359 तक दर्ज किया गया है.
 
एयरपोर्ट, मथुरा रोड,लोधी रोड,दिल्ली विश्वविद्दालय में एक से सात जनवरी के बीच पीएम 2.5 का माप 250 से 450 प्वाइंट के बीच है जो बेहद खतरनाक स्तर पर है.