नई दिल्ली. पंजाब के पठानकोट में हुए आंतकी हमले के बाद भारत ने साफ कहा है कि आतंकवादी हमले से जुड़े उन सबूतों पर पाकिस्तान को त्वरित और निर्णायक कार्रवाई करनी ही होगी.

भारतीय विदेश प्रवक्ता विकास स्वरूप ने कहा है कि गेंद अब पाकिस्तान के पाले में है और इस वक्त का मुद्दा पाकिस्तान की प्रतिक्रिया है. उन्होंने कहा कि हम पड़ोसी देश से शांति चाहते हैं और इस मसले पर हमारी नीति बिल्‍कुल साफ है.

स्वरूप ने कहा कि सीमा पार से हमला बर्दाश्‍त नहीं किया जाएगा. अब पहल पाकिस्‍तान को करनी है. पठानकोट हमले पर भारत की तरफ से पड़ोसी मुल्‍क को सबूत दिए गए हैं, सो, अब उन सुरागों के आधार पर पाकिस्‍तान कार्रवाई करे.

 नवाज शरीफ ने की सबूतों की समीक्षा

पाकिस्तान में प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ ने विदेशमंत्री सरताज अज़ीज़ और अन्य शीर्ष अधिकारियों से मुलाकात कर भारत की तरफ से मुहैया करवाए गए सबूतों की समीक्षा की है. इन सबूतों में इन्टरसेप्ट की हुई उन फोन कॉलों के रिकॉर्ड भी शामिल हैं, जो पठानकोट एयरफोर्स बेस पर हमला करने वाले छह आतंकवादियों ने की थीं.

दो दिन पहले भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी फोन पर बातचीत के दौरान नवाज़ शरीफ को साफ-साफ बताया था कि भारत उन लोगों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई चाहता है, जिन्होंने इस हमले की साज़िश रची, और हमला करवाया था.

14 15 जनवरी को इस्लामाबाद में होनी है वार्ता

बता दें कि दोनों देशों के विदेश सचिवों के बीच भी इस महीने की 14 और 15 जनवरी को इस्लामाबाद में मुलाकात होनी है, हालांकि भारत की ओर से आधिकारिक रूप से तारीखों की कोई घोषणा नहीं की गई है.