नई दिल्ली. बॉलीवुड स्टार आमिर खान ने अतुल्य भारत अभियान के ब्रांड एम्बेसडर से खुद को हटाने के बाद कहा है कि वो ब्रांड एम्बेसडर रहें या नहीं रहें, भारत हमेशा अतुल्य रहेगा और इसे अतुल्य ही रहना चाहिए. आमिर ने ये भी कहा कि 10 साल में उन्होंने किसी भी जनहित के विज्ञापन के लिए कोई पैसा नहीं लिया है.
 
आमिर ने एक बयान जारी करके कहा कि पिछले 10 साल से अतुल्य भारत अभियान का ब्रांड एम्बेसडर रहना उनके लिए गर्व और संतोष की बात है. उन्होंने कहा कि उन्हें खुशी है कि वो देश के काम आ सके और आगे भी देश के किसी भी काम के लिए हमेशा तैयार रहेंगे.
 
 
आमिर ने कहा कि वो साफ करना चाहते हैं कि आज तक उन्होंने जनहित के जो भी विज्ञापन किए हैं उनमें से किसी के लिए भी कोई पैसा नहीं लिया है. उन्होंने कहा कि देश के लिए ऐसा करना सम्मान की बात है और आगे भी वो इस तरह के काम के लिए तैयार मिलेंगे.
 
आमिर ने कहा कि ये सरकार का विशेषाधिकार है कि वो किसी अभियान के लिए ब्रांड एम्बेसडर रखना चाहती है या नहीं और अगर रखना चाहती है तो वो कौन होगा. आमिर ने भरोसा जताया है कि सरकार इस अभियान के लिए जो भी बेहतर होगा, वो करेगी.
 
 
इससे पहले एक आरटीआई के जरिए जब सरकार से पूछा गया था कि क्या आमिर खान अतुल्य भारत के ब्रांड एम्बेसडर हैं या नहीं तो जवाब में मंत्रालय ने कहा था कि सरकार ने एड एजेंसी मैक्केन को ये काम दे रखा है और मैक्केन के एड में आमिर खान एक कलाकार के तौर पर काम कर रहे हैं.
 
मंत्रालय के जवाब से ये साफ है कि मंत्रालय आमिर खान को अतुल्य भारत का ब्रांड एम्बेसडर नहीं मानता. अब चर्चा है कि मंत्रालय दीपिका पादुकोण, प्रियंका चोपड़ा या अक्षय कुमार में किसी एक को इस अभियान के ब्रांड एम्बेसडर के तौर पर चुनने का विचार कर रहा है.