ठानकोट. पठानकोट आतंकी हमले के बाद पहली बार मीडिया से बात करते हुए गुरदासपुर के एसपी सलविंदर सिंह ने कहा है कि 4 से 5 आतंकियों ने उनको बंधक बनाकर उनसे उनकी गाड़ी छीन ली थी.

एसपी सलविंदर सिंह का कहना है कि मेरे साथी राजेश वर्मा गाड़ी चला रहे थे. वो सभी आतंकी मिलिट्री ड्रेस में थे. उन लोगों ने पहले गाड़ी रूकवाई और हमें पीछे से धक्का मार दिया. उनको नहीं पता था कि मैं एसपी हूं. एसपी का दावा है कि सभी आतंकियों के पास एके-47 थी.

उन्होंने कहा कि सभी आतंकी उर्दू, पंजाबी और हिंदी में बात कर रहे थे और सभी के पास जीपीआरएस था. एसपी ने कहा कि पहले आतंकियों ने उन्हें मारा फिर जान से मारने की धमकी भी दी और फोन भी छीन लिए.

बता दें कि एक जनवरी को गुरदासपुर के एसपी के साथ गनप्वाइंट पर लूटपाट की वारदात को अंजाम देने वाले इन्हीं आंतकियों ने पठानकोट में आतंकी हमले को अंजाम दिया है.