नई दिल्ली. दिल्ली में ऑड-ईवन स्कीम से बचने के लिए लोग घूस देकर पेट्रोल-डीजल कार से लिए सीएनजी का स्टिकर खरीद रहे हैं क्योंकि इस स्कीम में सीएनजी गाड़ियों को छूट है. इंडिया न्यूज ने इस पूरे गोरखधंधे को कैमरे पर कैद कर लिया है. स्पेशल रिपोर्ट.
 
इंडिया न्यूज के स्टिंग ऑपरेशन में सीएनजी स्टिकरों के दुरुपयोग का भंडाफोड़ हुआ है. स्टिंग में रिपोर्टर की पेट्रोल कार को 2800 रुपया लेकर एक सीएनजी स्टाफ न सिर्फ सीएनजी का स्टिकर दे देता है बल्कि पेट्रोल कार के रजिस्ट्रेशन कार्ड पर सीएनजी भी चढ़ा देता है. सीएनजी स्टाफ 200 रुपए की एक कम्प्लायंस प्लेट आगे कहीं और से लेने की बात कहता है.
 
पुलिस ने रोकी सीएनजी स्टिकर वाली पेट्रोल कार पर पकड़ नहीं पाई
 
इंडिया न्यूज़ का रिपोर्टर पेट्रोल कार पर सीएनजी स्टिकर लगाकर आगे बढ़ता है और पुलिस उस गाड़ी की चेकिंग भी करती है लेकिन सीएनजी का सिलिंडर चेक नहीं करती. वो सीएनजी का स्टिकर और आरसी पर सीएनजी देखकर मान लेती है कि ये कार सीएनजी वाली ही है.
 
परिवहन मंत्री गोपाल राय ने कहा, सख्त कार्रवाई करेंगे गोरखधंधा कर रहे लोगों पर
 
दिल्ली के परिवहन मंत्री गोपाल राय ने इंडिया न्यूज़ के इस खुलासे पर प्रतिक्रिया देते हुए चैनल से वीडियो फुटेज मुहैया कराने का आग्रह किया है और भरोसा दिलाया है कि अधिकारियों की टीम के साथ वे खुद जाकर इस तरह के गोरखधंधे में लगे लोगों की खबर लेंगे.