पठानकोट. भारतीय एयरफोर्स के पठानकोट एयरबेस पर हुए आतंकवादी हमले के बाद रविवार को भी सर्च ऑपरेशन जारी है. इस हमले में एयरफोर्स के अब तक सात जवान शहीद हो गए, जबकि 11 अन्य घायल हो गए हैं.
 
पठानकोट में भारतीय एयरफोर्स के एयरबेस पर आतंकवादियों ने शनिवार तड़के हमला कर दिया था, जिसके बाद सुरक्षा बलों के साथ उनकी लगभग 15 घंटे तक मुठभेड़ चली. सुरक्षा बलों ने इस दौरान पांचों आतंकवादियों को मार गिराया. माना जा रहा है कि ये आतंकवादी पाकिस्तान की सीमा से दाखिल हुए थे.
 
एयफोर्स के एयरबेस के भीतर और आस-पास के इलाकों में बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान जारी है. इस अभियान में राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी), एनआईए, वायु सेना, अर्ध सैनिक बल और पंजाब पुलिस सहित अन्य सुरक्षा एजेंसियां शामिल हैं.
 
वायु सेना के हेलीकॉप्टर भी इस अभियान में शामिल हैं. पंजाब पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, “तलाशी अभियान जारी है. सब कुछ पूरा होने के बाद ही तलाशी अभियान को समाप्त किया जाएगा.”
 
सुरक्षा एजेंसियां उन लोगों की खोज कर रही हैं, जिन्होंने भारतीय सीमा में घुसने के बाद आतंकवादियों को समर्थन दिया. पाकिस्तान की सीमा यहां से 30 किलोमीटर की दूरी पर है. खुफिया सूत्रों के अनुसार, आतंकवादी 30-31 को पाकिस्तान की सीमा से भारतीय क्षेत्र में दाखिल हुए थे.
 
वायुसेना सूत्रों के अनुसार, मिग-21 बाइसन लड़ाकू जेट, एमआई-35 हेलीकॉप्टर, मिसाइल और वायुसेना के अन्य महत्वपूर्ण संसाधन अड्डे के तकनीकी क्षेत्र में सुरक्षित हैं. आतंकवादी अड्डे के तकनीकी क्षेत्र तक नहीं पहुंच पाए, जहां ये संसाधन रखे हुए हैं.