नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस ने लिम्का बुक ऑफ रेकॉर्ड्स में अपनी जगह बनाकर एक नया मुकाम हासिल किया है. इस बात की सूचना दिल्ली पुलिस कमिश्नर बी एस बस्सी ने अपने ट्विटर पर दी. बी एस बस्सी ने लिखा है, ”दिल्ली पुलिस ने भारत में लूट की सबसे बड़ी नकद वसूली(22.49 करोड़ रुपए) करने के लिए लिम्का में नाम दर्ज कर लिया है”
 
बस्सी ने लिम्का बुक के सर्टिफिकेट की तस्वीर भी ट्विटर पर शेयर की.  
 
क्या लिखा है सर्टिफिकेट में ?
सर्टिफिकेट में लिखा गया है कि बीते साल 27 नवंबर को दिल्ली पुलिस ने चोरी की सबसे बड़ी रकम (22 करोड़ 49 लाख 89 हजार 500 रुपए) की नकद वसूली की. पुलिस ने इस मामले में महज 10 घंटे में आरोपी को ढूंढ निकाला था. आरोपी ने लूटी गई रकम में दस हजार रुपए खर्च कर दिए थे. शेष राशि पुलिस ने बरामद कर ली थी.
 
महज 10 घंटे में की थी पूरी रकम बरामद
बता दें कि लूट की यह घटना 26 नवंबर को दिल्ली के गोविंदपुरी मेट्रो स्टेशन के पास हुई थी जहां एक्सिस बैंक की 22 करोड़ 49 लाख 89 हजार 500 रुपए से भरी एक कैश वैन को ड्राइवर लेकर फरार हो गया था. लूट की शिकायत ओखला इंडस्ट्रियल थाने में अगले दिन सुबह दर्ज कराई गई थी.
 
शिकायत पर कार्रवाई करते हुए दक्षिण पूर्वी दिल्ली की पुलिस टीम ने ड्राइवर प्रदीप शुक्ला को गिरफ्तार कर लूट की यह रकम महज दस घंटे के अदंर बरामद कर ली थी. ड्राइवर रकम के साथ ओखला मंडी के एक गोदाम में छुपा हुआ था. जबतक पुलिस ने उसे पकड़ा वह लूट की रकम मे से 10 हजार रुपए खर्च कर चुका था.