लखनऊ. उत्तर प्रदेश के इतिहास में राज्यपाल ने पहली बार लोकायुक्त के काम का ब्यौरा मांगा है. राज्यपाल राम नाईक ने लोकायुक्त एनके मेहरोत्रा को से उनके पिछले पांच साल के काम का ब्यौरा मांगा है.
 
 
राज्यपाल ने लिखा है कि लोकायुक्त बताएं कि 5 साल में उन्होंने क्या-क्या किया? मेहरोत्रा पिछले 9 साल से यूपी के लोकायुक्त के पद पर काबिज हैं. उन्हें 2006 में तत्कालीन सीएम मुलायम सिंह यादव ने लोकयुक्त बनाया था और तब से वो कार्यकाल विस्तार के जरिए इस पद पर बने हुए हैं.
 
पिछले साल सुप्रीम कोर्ट ने लोकायुक्त की नियुक्ति नहीं कर पाने को लेकर यूपी सरकार को फटकार लगाई थी और खुद ही रिटायर्ड जस्टिस वीरेन्द्र सिंह यादव को लोकायुक्त नियुक्त कर दिया था. बाद में राज्य के चीफ जस्टिस के उनके नाम पर विरोध की बात सामने आने पर शपथ ग्रहण को सुप्रीम कोर्ट ने टाल दिया.
 
 
हाल ही में रिटायर्ड जस्टिस वीरेंद्र सिंह यादव के बारे में खुलासा हुआ है कि उन्हें हाईकोर्ट ने जुर्माने की सज़ा दी थी जिसे जमा नहीं करने पर उनके खिलाफ अवमानना का मामला भी चला है.