नई दिल्ली. बीजेपी ने डीडीसीए मामले पर सांसद कीर्ति आजाद को कारण बताओ नोटिस जारी किया था. इस मामले पर कीर्ति आजाद ने नोटिस का जवाब आज भेज दिया है. आजाद ने अपने जवाब में सभी आरोपों को नकार दिया है. 
 
कीर्ति आजाद ने लिखा कि डीडीसीए मामला का पार्टी से कोई लेना-देना नहीं है. मैंने किसी भी प्रेस कॉन्फ्रेस में बीजेपी और वित्त मंत्री अरूण जेटली का नाम नहीं लिया है. कीर्ति ने अपने जवाब के साथ चार सीडी और तीन लेटर भी भेजे हैं.
 
कीर्ति आजाद ने दावा किया है कि उन्‍होंने पार्टी अध्‍यक्ष अमित शाह के साथ मुलाकात में जेटली के साथ एक बैठक का अनुरोध किया था ताकि डीडीसीए के मसले पर चर्चा की जा सके. लेकिन इस बारे में कुछ प्रगति नहीं हुई तो उन्‍हें लगा कि डीडीसीए में भ्रष्‍टाचार के मसले से बीजेपी का कोई लेना-देना नहीं है.

इसके साथ ही आजाद ने बीजेपी से उन अखबारों और मीडिया रिपोर्टस को उपलब्‍ध कराने की मांग की है जिससे यह साबित हो कि उन्‍होंने बिहार विधानसभा चुनाव में एनडीए की हार के बाद पार्टी के शीर्ष नेतृत्‍व पर निशाना साधा था.

आजाद की ओर से पार्टी को जो चार वीडियो रिकॉर्डिंग सौंपी गई है उनमें उनकी 20 दिसंबर की प्रेस कान्‍फ्रेंस का वीडियो भी शामिल हैय इस वीडियो ने उन्‍होंने सार्वजनिक तौर पर पहली बार डीडीसीए में भ्रष्‍टाचार के आरोप लगाए थे.

 
बीजेपी से क्यों सस्पेंड किए गए थे कीर्ति आजाद
 
1. जेटली पर लगातार आरोप
कीर्ति ने डीडीसीए में घोटाले का मामला उठाते हुए जेटली पर आरोप लगाए थे. इस पर बीजेपी ने उन पर एंटी-पार्टी एक्टिविटीज का आरोप लगाया था.
 
2. सोनिया से मिलने का आरोप
जेटली ने कहा था, ”पार्टी के एक सांसद सोनिया गांधी से मिले हैं. दोनों में मुझे फिक्स करने को लेकर बात हुई है.” हालांकि, जेटली ने आजाद का नाम नहीं लिया था.
 
3. मना करने के बाद भी किया था प्रेस कॉन्फ्रेंस
बीजेपी प्रेसिडेंट अमित शाह की मनाही के बावजूद आजाद ने डीडीसीए मसले पर प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी.
 
सस्पेंड के बाद क्या कहा?
बीजेपी सांसद कीर्ति आजाद ने सस्पेंड के बाद कहा था कि डीडीसीए में हुए भ्रष्टाचार पर सच बोलने की वजह से उन्हें पार्टी से बाहर निकाला गया है. आखिर मैंने पार्टी विरोधी ऐसा कौन सा काम किया? आजाद ने कहा, “कांग्रेस और आप ने तो मेरा ही मुद्दा उठा लिया.’ भविष्य की योजना के बारे में पूछे जाने पर आजाद ने कहा, “देखिए, क्या होता है आगे और खेल तो अब शुरू हुआ है.”