नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने कैबिनेट में नए साल में बदलाव करना चाहते हैं, लेकिन बीजेपी नेताओं का कहना है कि उन्हें योग्य चेहरा नहीं मिल रहे हैं. बिहार चुनाव में मिली हार के बाद से ही पीएम खराब प्रर्दशन करने वाले मंत्रियों को बहार का रास्ता दिखाना चाहते हैं. कई मंत्रियों की जिम्मेदारी में बदलाव करना चाहते हैं. यह जानकारी बीजेपी के बड़े नेताओं और मोदी के करीबी सहयोगी ने यह जानकारी दी. 
 
पीएम मोदी पर अपनी पार्टी के साथ सरकार का छवि बदलना चाहते हैं. विदेश मंत्रालय के सूत्रो के अनुसार सुषमा स्वराज अपना विभाग बदलना चाहती हैं, लेकिन उनके मंत्रालय ने इस पर टिप्पणी करने से मना कर दिया. अरूण जेटली को रक्षा मंत्रालय मिल सकता है, लेकिन मोदी को जेटली की जगह योग्य चेहरा नहीं मिल रहा है.
 
बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं और मोदी के करीबी मंत्री के अनुसार पीएम सरकार में जरूरी बदलाव करना चाहते हैं लेकिन टैलेंट पूल की कमी के कारण वो अपनी योजना को अंजाम नहीं दे पा रहे हैं.
 
मोदी सरकार देश की छवि बदलने, बेरोजगारी दूर करने और विकास की बयार बहाने का वादा कर सत्ता में आए थे. लेकिन अर्थव्यवस्‍था के लगातार गड़बड़ाने और कई राज्यों में लगातार दो सूखों के कारण हालात विकट होते जा रहे हैं.
 
ऐसे मुद्दों पर पीएम अंत समय में ही कोई निर्णय लेते हैं जो पूरी तरह उनका होता है. हालांकि मोदी के एक और नजदीकी ने इस तरह की बातों को अफवाह करार देते हुए कहा कि इन बातों का कोई आधार नहीं है.