नई दिल्ली. दिल्ली सरकार  किसानों को बर्बाद फसलों का मुआवजा देने के लिए शुरू की गई योजना को दिवंगत किसान गजेंद्र सिंह को समर्पित करेगी. गजेंद्र ने आम आदमी पार्टी (आप) की हाल में आयोजित एक रैली में आत्महत्या कर ली थी. दिल्ली सरकार की ओर से जारी एक बयान के अनुसार, राजस्थान के दौसा जिले के किसान गजेंद्र को शहीद के रूप में भी माना जाएगा.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सिंह के भाई से बात की और परिवार की दोनों मांगे स्वीकार कर ली. इसके बाद सरकार ने यह निर्णय लिया. बयान में कहा गया है, ‘दिल्ली सरकार, गजेंद्र के परिवार के किसी बच्चे के 18 वर्ष का होने पर उसे नौकरी देगी.’