नई दिल्ली. दिल्ली सरकार ने फ़र्ज़ी पते पर ऑटो परमिट जारी करने के आरोप में डिप्टी कमिश्नर समेत दिल्ली परिवहन विभाग के तीन अधिकारियों को भ्रष्टाचार के आरोप में निलंबित कर दिया है.

ईवन-ऑड फ़ॉर्मूले को लागू करने के लिए दिल्ली सरकार ने 10,000 नए ऑटो परमिट को मंज़ूरी दी थी, जिसमें इन अधिकारियों पर धांधली का आरोप लगा है. बीजेपी का आरोप है कि आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं को परमिट दिया जा रहा है.

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इस मामले पर ट्वीट करके कहा है कि परिवहन विभाग के तीन अधिकारियों को निलंबित किया जा रहा है.

उन्‍होंने आगे लिखा है कि तीन पहिया वाहनों को सिलसिलेवार ढंग से परमिट देने के परिवहन मंत्री के आदेश को न मानते हुए मनमाने ढंग से परमिट जारी किया गया है.

सिसोदिया ने लिखा है कि ये पाया गया कि कई मामलों में आवेदकों की बजाय डीलर्स को परमिट दिया जा रहा था. ये मामला सीबीआई को सौंपा जाएगा. सरकार किसी स्तर पर भ्रष्टाचार को बर्दाश्त नहीं कर सकती.