देहरादून. असली-नकली शंकराचार्य पर स्टैंड लेने से पल्ला झाड़ते हुए भारत सरकार ने कहा है कि उसे नहीं पता कि देश में कितने शंकराचार्य हैं. शंकराचार्य की सूची RTI के तहत मांगने पर गृह मंत्रालय ने कहा है कि ऐसी कोई लिस्ट न उसके पास है और न उसे ये पता है कि ये लिस्ट किसके पास मिलेगी.
 
उत्तराखंड के देहरादून जिले के दुधनी गांव निवासी अजय कुमार ने सूचना का अधिकार कानून के तहत प्रधानमंत्री कार्यालय से देश के सारे शंकाराचार्य के नाम की लिस्ट मांगी थी. पीएमओ ने ये आवेदन गृह मंत्रालय को भेज दिया था.
 
गृह मंत्रालय ने जवाब में कहा है, “मंत्रालय के पास ऐसी कोई जानकारी नहीं है इसलिए ऐसी कोई सूचना नहीं दी जा सकती.” मंत्रालय के डिप्टी सेक्रेटरी वीके राजन ने पत्र में बताया है कि मंत्रालय के मुख्य जन सूचना अधिकारी को भी ये नहीं पता कि ये सूचना किस अधिकारी के पास मिलेगी नहीं तो वो आवेदन वहां भेज देते.