चेन्नई. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने चेन्नई में आई भयंकर बाढ़ को भविष्य के लिए खतरा बताया है. उन्होंने कहा है कि अब सबको इस बाढ़ से सीख लेने की जरूरत है.  
 
एक कार्यक्रम में पहुंचे जेटली ने बाढ़ से प्रभावित हुए लोगों के लिए लोन और अन्य बीमा सुविधाएं बढ़ा कर देने का भी वाद किया है और कहा है कि बीमा संबधी सुविधाओं को तेजी से पूरा किया जा रहा है. उन्होंने चेन्नई के हालात को देखते हुए रविवार को तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता से मुलाकात भी की है.  
 
जेटली ने कहा कि चेन्नई के लोगों ने बड़ी हिम्मत दिखाते हुए हालात का सामना किया है और गंभीरता को देखते हुए केंद्र सरकार जयललिता सरकार की मदद करने में कोई कमी नहीं छोड़ेगी.  
 
जेटली ने कहा, “बीमा कंपनियों से जुड़े 2000 मामलों का निपटारा किया जा चुका है साथ ही बहुत जल्द अन्य मामलों का निपटारा भी हो जाएगा. इस मामले में बीमा कंपनियों के साथ-साथ पब्लिक और प्राईवेट सेक्टर के बैंकों के साथ बातचीत चल रही है. “
 
बता दें कि चेन्नई में आई बाढ़ ने पूरे राज्य को हिला के रख दिया है जिसमें करोड़ों रूपए का नुकसान होने के साथ अब तक करीब 389 लोगों की जाने चली गई है. बता दें कि केंद्र सरकार ने  दिसंबर के पहले हफ्ते में हालात को देखते हुए  1940 स्पेशल रीलीफ पैकेज राज्य को देने का वादा किया था.