नई दिल्ली. बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने पिछले दिनों असहिष्णुता के मुद्दे पर अवार्ड लौटाने वाले लेखकों पर निशाना साधा है.

कैलाश विजयवर्गीय ने ट्विटर पर लिखा है कि निर्भया के क्रूर हत्यारे की रिहाई पर क्यों मौन है अवार्डवापसी गिरोह ? अब उनकी आत्मा मारी गयी है या कोई चुनाव नहीं चल रहा है ? देश जवाब चाहता है.

बता दें कि 16 दिसंबर 2012 को दिल्ली में हुए नृशंस गैंगरेप के इस नाबालिग दोषी को मिली तीन साल की सजा पूरी हो गई है और उसे आज शाम 5 बजे रिहा किया जाना है. 

निर्भया कांड में दोषी नाबालिग़ की रिहाई के खिलाफ याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को सुनवाई होगी. ये याचिका दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कल देर रात दाखिल की थी.