नई दिल्ली. निर्भया गैंगरेप के नाबालिग दोषी 20 दिसंबर को रिहा होने जा रहा है. निर्भया के माता-पिता नाबालिग आरोपी के छोड़े जाने का विरोध प्रर्दशन कर रहे थे. इसी दौरान पुलिस ने दोनों को हिरासत में ले लिया है. जिसके बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पुलिस पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि ये बहुत ही अचंभे वाली बात है कि पुलिस ने निर्भया के माता-पिता को हिरासत में ले लिया है.
 
केजरीवाल ने अपने ट्विटर पर कहा है, ”निर्भया के माता-पिता की गिरफ्तारी से मुझे काफी हैरानी हुई है. उन दोनों को तुरंत रिहा कर देना चाहिए.
 
दिल्ली सीएम ने अपने अगले ट्वीट में कहा, ”पुलिस की यह कार्रवाई अस्वीकार्य है. मैंने अपने मुख्य सचिव से निर्भया के माता-पिता को पुलिस हिरासत से फौरन छोड़े जाने के लिए पुलिस कमिश्नर से बात करने को कहा है.
 
कल रिहा हो जायेगा निर्भया गैंगरेप के नाबालिग दोषी
निर्भया गैंगरेप के नाबालिग दोषी पर फैसला देते हुए दिल्ली हाईकोर्ट ने आज कहा कि नाबालिग आरोपी रविवार 20 दिसंबर या उससे पहले रिमांड होम से रिहा होगा. कोर्ट ने उसकी रिहाई पर रोक लगाने से इनकार कर दिया. कोर्ट ने बीजेपी नेता सुब्रमण्यन स्वामी की याचिका व दलीलों पर सुनवाई करते हुए कहा कि यह मामला सचमुच गंभीर है, लेकिन 20 दिसंबर के बाद हम उसे सुधार गृह में नहीं रख सकते हैं.
 
कोर्ट के इस निर्णय के बाद निर्भया की मां ने कहा कि हम न्याय के लिए लड़ रहे थे, लेकिन आज अपराध जीत गया. वो इस फैसले को सुनने के बाद दुखी हैं लेकिन वो मरते दम तक इंसाफ के लिए लड़ती रहेंगी. मैंने अपनी बेटी से वादा किया था कि तुम्हारा दर्द नहीं बदल सकती लेकिन तुम्हें न्याय दिलाकर रहूंगी. मैं मरते दम तक इंसाफ के लिए लड़ूंगी.
 
वहीं, निर्भया के पिता ने कहा कि हमारी लड़ाई यहीं पर खत्म नहीं हो गयी है. हम अपना संघर्ष इस मुद्दे पर जारी रखेंगे और देश की जनता से खुद के समर्थन की अपील करेंगे.