नई दिल्ली. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने जीएसटी बिल को लेकर फिर कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि जानबूझकर कांग्रेस जीएसटी बिल को रोक रही है. बता दें कि 23 दिसंबर तक शीतकालीन सत्र खत्म हो रहा है.
 
अगर इस सत्र में सरकार जीएसटी बिल पेश करने में असफल रही तो केंद्र सरकार अपने 1 अप्रैल 2016 तक इसे लागू करने के वादे से पीछे छूट जाएगी. केंद्र सरकार  जीएसटी बिल को अगले सप्ताह राज्यसभा में पेश करना चाहती है. राज्यसभा के एजेंडे में रियल एस्टेट सहित 10 बिल हैं, जबकि लोकसभा में अगले सप्ताह छह विधेयक पेश किए जाएंगे.
 
राज्यसभा की कार्यवाही सलाहकार समिति ने जीएसटी के लिए चार घंटे, जबकि रियल एस्टेट बिल के लिए दो घंटे के समय का आवंटन किया है. राज्यसभा में जब दोनों विधेयक पारित हो जाएंगे, उसके बाद उन्हें लोकसभा में पेश किया जाएगा जहां सरकार की योजना अगले कुछ सप्ताहों में उसे पारित करने की है. दोनों विधेयकों को राज्यसभा की प्रवर समितियों के पास भेजा गया है और इसकी रिपोर्ट सौंप दी गई है.