नई दिल्ली. नेशनल हेराल्ड केस में कल कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी को दिल्ली की अदालत में पेश होना है. इस मामले में सोनिया ने पार्टी के नेताओं को निर्देश दिया है कि नेता दफ्तर में ही रहेंगे,  उन्हें कोई ड्रामा नहीं चाहिए.

सुत्रों के मुताबिक सोनिया गांधी ने कांग्रेस के बड़े नेताओं को आदेश दिया है कि नेशनल हेराल्ड केस से जुड़े नेता ही कोर्ट जाएंगे. बाकी नेता पार्टी दफ्तर में ही रहेंगे. इससे पहले सोनिया ने कहा था कि वे कोर्ट में पेश होने के लिए तैयार हैं. हालांकि बेल बॉन्ड भरने के मामले में उन्होंने कुछ नहीं कहा.

गौरतलब है कि नेशनल हेराल्ड मामले में सोनिया गांधी समेत राहुल गांधी, मोतीलाला वोरा, ऑस्कर फर्नांडीस समेत अन्य कांग्रेस नेताओं को पटियाला हाउस कोर्ट में पेश होना है. पिछली सुनवाई के दौरान कांग्रेस नेताओं के वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कोर्ट को बताया था कि सोनिया व राहुल समेत अन्य नेता 19 दिसंबर को कोर्ट में हाजिर हो जाएंगे.

बताया जा रहा है कि पेशी के दौरान कांग्रेस नेता कोर्ट के जोर देने पर बेल बॉन्ड भी भर सकते हैं. इससे पहले कहा जा रहा था कि दोनों नेता बेल बॉन्ड भरने से इनकार कर सकते हैं और गिरफ्तारी दे सकते हैं.

सोनिया-राहुल पर क्या हैं आरोप ?

नेशनल हेराल्ड मामले में भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने केस कर रखा है. उनका आरोप है कि कांग्रेस नेताओं ने लोन देकर नेशनल हेराल्ड की संपत्ति अपने नाम कर ली है. इस मामले में कांग्रेस अध्यक्ष की ओर से हाईकोर्ट में भी याचिका दायर की गई थी लेकिन उन्हें राहत नहीं मिली थी.