नई दिल्ली. हाईकोर्ट के आदेश के बाद दिल्ली गैंगरेप मामले में नाबालिग दोषी को रविवार को रिहा कर दिया जाएगा. इस आदेश के बाद निर्भया की मां ने कहा है कि वो इस फैसले को सुनने के बाद दुखी हैं लेकिन वो मरते दम तक इंसाफ के लिए लड़ती रहेंगी.

निर्भया की मां ने एक निजी न्यूज़ चैनल से इंटरव्यू में कहा कि मैं लड़ाई लड़ूंगी. हार नहीं मानूंगी. मैंने अपनी बेटी से वादा किया था कि तुम्हारा दर्द नहीं बदल सकती लेकिन तुम्हें न्याय दिलाकर रहूंगी. मैं मरते दम तक इंसाफ के लिए लड़ूंगी.

जूवेनाइल बिल पास कराएं

उन्होंने जूवेनाइल बिल पास ना कराने को लेकर राजनीति करने वाले लोगों पर भी भड़ास निकाली. निर्भया की मां ने कहा कि जिनकी भी वजह से जूवेनाइल बिल पास नहीं हो रहा उनको कहना चाहती हूं कि अपने घर की महिलाओं के बारे में सोचें और अगर संवेदनशील बनकर इस बिल को पास कराएं.

राजनीति में हम गरीब लोग मारे जाते हैं

निर्भया की मां ने केंद्र सरकार पर नाराज़गी जाहिर करते हुए कहा कि अब कोशिश करना, वादे करना बंद करिए और महिलाओं की सुरक्षा के लिए कुछ काम करिए. आप लोग इतने दिनों से क्या कर रहे हैं. सच तो ये है कि आप लोगों की राजनीति में हम गरीब लोग मारे जाते हैं.

मैं हार गई और अपराध जीत गया

उन्होंने कहा कि मुझे लगता था कि नाबालिग को सजा मिलेगी लेकिन अब मैं भी क्या कर सकती हूं. समाज में अपराध हो रहे हैं लेकिन कानून पुराने ढंग से काम कर रहा है. ऐसा लग रहा है कि तीन साल का संघर्ष बेकार गया. आज मैं हार गई और अपराध जीत गया.