नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस तीर्थ सिंह ठाकुर ने कहा है कि मुकदमेबाजी भी एक बीमारी की तरह है और इससे निजात दिलाना कैंसर से निजात दिलाने जैसा है.

दिल्ली के तीसहजारी कोर्ट परिसर में दिल्ली बार एसोसिएशन के 125वें स्थापना दिवस समारोह को संबोधित करते हुए जस्टिस ठाकुर ने कहा, “अगर आप किसी को मुकदमेबाजी से निजात दिलाते हैं तो समझिए कि आप कैंसर जैसी बीमारी से निजात दिला रहे हैं.”

जस्टिस ठाकुर ने वकीलों से आर्थिक रूप से कमज़ोर जरूरतमंद लोगों और गरीबों को मुफ्त कानूनी सलाह देने की भी अपील की ताकि किसी को इस वजह से न्याय न मिले कि उसके पास पैसे नहीं हैं.