नई दिल्ली. दो दिनों के भारत दौरे पर आए गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई का कहना है कि गूगल बहुत ही मजेदार जगह है. मैं जब वहां गया तब मैं किसी टॉफी की दुकान में एक बच्चे की तरह महसूस करता था और आज भी मेरे लिए वह जगह ऐसी ही है. 

दिल्ली यूनिवर्सिटी के श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स में छात्र-छात्राओं से रूबरू होते हुए उन्होंने कहा कि आप गूगल घूमिए और आप देखेंगे कि वहां लोग गजब की चीजों पर काम कर रहे होते थे. गूगल में हम लोग हमेशा समस्याओं को सुलझाने के बारे में सोचते हैं. हम अक्सर ऐसे ही सवाल करते हैं कि क्या यह अरबों लोगों के लिए काम करेगा ?

सुंदर पिचाई ने कहा कि हमारा सबसे ज्यादा फोकस यह सुनिश्चित करना है कि हम भविष्य को ध्यान में रखते हुए लगातार इनोवेट करते रहे और प्रॉडक्ट बनाते रहें. उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि हमारे गूगल का हमेशा काफी महत्वाकांक्षी मिशन रहा है.

पिचाई ने छात्रों से कहा कि खुद को री-इन्वेंट करने के लिए लगातार अवसरों की तलाश करते रहें. आज की पीढ़ी जोखिम लेने से पहले की पीढ़ी के मुकाबले कम घबराती है.

सुंदर पिचाई ने कहा कि तकनीक की दुनिया में सबकुछ बहुत तेजी से बदलता है. 80 के दशक में कंप्यूटर्स की बस शुरुआत हुई थी. 10 साल बाद इंटरनेट आया. फिर 10 साल बाद स्मार्टफोन आए. इससे आप देख सकते हैं कि कैसे चीजें बदल रही हैं.

उन्होंने कहा कि हम भारत को लेकर ज्यादा दिलचस्पी इसलिए भी रख रहे हैं क्योंकि यह  युवाओं का देश है और कई मामलों में ट्रेंड्स की बात करें तो वे भारत से ही आएंगे. कई चीजों पर काम करना बाकी है. भविष्य में कई जबरदस्त चीजें आना बाकी है.