नई दिल्ली. भारत के लिए क्रूड ऑयल यानी कच्‍चा तेल सस्‍ता हो गया है. इसके बावजूद आम आदमी को पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बड़ी गिरावट के बाद कोई राहत नहीं मिली है. सरकारी ने फिर से पेट्रोल और डीजल पर एक्साइज ड्यूटी बढ़ा दी है.
 
पेट्रोल पर सरकार ने 30 पैसे प्रति लीटर वहीं डीजल पर 1.17 रुपए प्रति लीटर की बढ़ोत्तरी की है. पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी 30 पैसे बढ़ाकर 7.36 रुपए प्रति लीटर हो गई. जबकि डीजल पर एक्साइज ड्यूटी बढ़कर 5.83 रुपए प्रति लीटर हो गई है.
 
मंगलवार को कंपनियों ने कच्चे तेल  में गिरावट के चलते पेट्रोल के दाम में 50 पैसे और डीजल की दाम में 46 पैसे प्रति लीटर की कटौती की गई थी. कटौती के बाद दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 59.98 रुपए और डीजल 46.09 रुपए प्रति लीटर हो गई हैं.
 
क्या है एक्साइज ड्यूटी 
एक्साइज टैक्स या एक्साइज ड्यूटी एक ऐसा टैक्स है जो देश के अंदर गुड्स के प्रोडक्शन और उसकी बिक्री पर लगता है. अब इस टैक्स को सेन्ट्रल वैल्यू ऐडेड टैक्स (CENVAT) के नाम से जाना जाता है. इसकी सहायता से सरकार के लिए अधिक से अधिक रेवेन्यू जनरेट किया जाता है. ताकि सार्वजनिक सर्विसेस में उसका इस्तेमाल किया जा सके. एक्साइज ड्यूटी 26 जनवरी 1944 को अस्तित्व में आया था. 1957 के बजट में तत्कालीन वित्त मंत्री टी टी कृष्णामाचारी ने एक्साइज ड्यूटी को 400 फीसदी तक बढ़ा दिया था.