मुंबई. कलाकार हेमा उपाध्याय और वकील हरीश भंबानी के मर्डर केस के मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. यूपी एसटीएफ ने साधू राजभर नाम के इस शख्स को वाराणसी से पकड़ा है.

पुलिस के मुताबिक आरोपी वाराणसी के बड़ागांव इलाके के गोसाईंपुर का रहने वाला है. साधू ने खुलासा किया कि हेमा के पति के साथ उनके रिश्ते ठीक नहीं थे. एसटीएफ का दावा है कि साधू ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है और उससे पूछताछ जारी है.

तीन लोगों ने दिया वारदात को अंजाम

आरोपी साधू ने पूछताछ में कहा है कि तीन साथियों के साथ उसने वारदात को अंजाम दिया था. उसने नशीला पदार्थ मिला कर रुमाल सुंघाकर हेमा और उसके वकील को बेहोश कर दिया था और फिर गला दबाकर दोनों को मार डाला.

फिलहाल पुलिस साधु राजभर को ट्रांजिट रिमांड पर लेकर मुंबई लाने की तैयारी कर रही है. उसके पास से हेमा और हरीश के एटीएम और क्लब कार्ड मिले हैं.

बिजनेस डील को लेकर था विवाद !

मुंबई के एक फोटो फ्रेमिंग वर्कशॉप में साधू काम करता था. उसका कहना है कि उसने यह सब अपने साहब यानी विद्या सागर राजभर के इशारे पर किया है. विद्या राजभर मुंबई में एक फोटो फ्रेमिंग वर्कशॉप का मालिक और हेमा का जानकार है.

सूत्रों के मुताबिक विद्या के साथ हेमा ने अपनी पोट्रेट को लेकर कभी कोई बिजनेस डील की थी. इसी को लेकर दोनों के बीच विवाद भी था.